Breaking
Tue. May 28th, 2024

मसूरी न्यूज़: पद्मश्री पद्मभूषण लेखक रस्किन बॉन्ड की नई किताब का विमोचन, 90 साल पूरे होने का भी मनाया जश्न, काटा केक।

By inanews.org May14,2024
Mussoorie News Padmashree Padmabhushan author Ruskin Bond's new book released, 90 years celebrated, cake cut.

मसूरी के लेखक पद्मश्री पद्मभूषण से सम्मानित रस्किन बॉन्ड की किताब द हिल का इंचानटमेंट ऑन क्लाउड्स 90 विध रस्किन बॉन्ड द स्टोरी ऑफ़ माय लाइफ ऐस अ राइटर का विमोचन रस्किन बॉन्ड और एलेफ बुक कंपनी पब्लिशर्स ऑफ फाइन राइटिंग के निदेशक डेविड डेविडर द्वारा संयुक्त रूप से किया गया।

मसूरी के होटल में आयोजित कार्यक्रम में रस्किन बांड ने अपनी नई किताब का विमोचन के साथ अपने प्रशंसकोंके बीच अपना 90 वा जन्मदिन को भी मनाया। बता दे की रस्किन बॉन्ड 19 मई 2024 को 90 साल के पूरे हो जाएंगे ।इस मौके पर रस्किन बॉन्ड के जन्मदिन का केक काटा गया और उनको विभिन्न प्रकार के उपहार भी दिए गए रस्किन बांड ने कहा कि वह 90 की उम्र में भी लगातार लिख रहे हैं और वह काफी खुश है।

रस्किन बॉन्ड ने कहा कि यह किताब लेखक के जीवन के बारे में आत्मकथात्मक है और वह जिस स्थान पर रहते है वह पहाड़ है जिसको उनके द्वारा अपनी नई किताब में प्रर्दषित किया गया है। उन्होंने कहा कि किताब लिखते समय उन्होंने खुद से बात की है इसलिए यह बहुत निजी है। उन्होंने कहा कि पिछले वर्षों में कुछ नया लेखन किया है और आने वाले वर्षों में और अधिक लिखने की उम्मीद करते हैं, हालांकि उनकी उम्र के कारण उनकी गति धीमी हो गई है लेकिन वह अभी भी लिख रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह उनका जन्मदिन सप्ताह है और उनके दोस्त और प्रशंसक नियमित रूप से उन्हें शुभकामनाएं दे रहे हैं और उपहार दे रहे हैं जो उन्हें बहुत पसंद है. उन्होंने कहा कि जब वह 16 या 17 वर्ष के थे, तब उनकी पहली कहानी अगस्त 1951 में वीकली ऑफ इंडिया में प्रकाशित हुई थी,और यह किताब उनके एक स्कूल शिक्षक पर आधारित एक लघु नाटिका थी। उन्होंने लोगों से बेहतर दुनिया बनाने के लिए कहा क्योंकि वर्तमान में यह बहुत टूटी हुई और दुखी दुनिया है। उन्होंने कहा कि टेलीविजन, समाचार चैनल और समाचार पत्रों को देखकर ऐसा लगता है कि यह बहुत खुशहाल दुनिया नहीं है और हमें भी दुनिया को खुश और शांतिपूर्ण बनाने का प्रयास करना चाहिए।

एलेफ बुक कंपनी पब्लिशर्स ऑफ फाइन राइटिंग के निदेशक डेविड डेविडर ने कहा कि रस्किन बॉन्ड अपने 90 वर्ष में, भारत के सबसे पसंदीदा लेखक, रस्किन बॉन्ड, एक लेखक के रूप में अपने समृद्ध और विविध जीवन पर अपनी नई किताब के माध्यम े बताने की कोशिश करते हैं। वह रस्किन अपने लेखन के अनुभवों के बारे में बात करते हैं जिन्होंने उन्हें आकार दिया है, उन घटनाओं के बारे में जिन्होंने उनकी सबसे प्रसिद्ध पुस्तकों और कहानियों को प्रेरित किया है, और कैसे पहाड़ों, एकांत और परी टिब्बा, फेयरी हिल (जिसे वह अपनी खिड़की से देख सकते हैं) ने उनके काम और एक किताब को प्रभावित किया है।

उन्होंने कहा कि वह पिछले 50 वर्षों से रस्किन बॉन्ड की पुस्तक प्रकाशित कर रहे हैं और यह बहुत दुर्लभ है। उन्होंने कहा कि महान लेखक की पुस्तक को प्रकाशित करने का लगाातर सौभग्य उनको मिला है और हर साल उनकी एक या दो किताबें प्रकाशित होती हैं और अब तक व 4 हजार से अधिक किताबें प्रकाशित कर चुके हैं। लेकिन रस्किन बॉन्ड वास्तव में विशेष लेखक हैं और 90 साल की उम्र में भी वह बहुत तेज और अच्छा लिखते हैं जो उल्लेखनीय है। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिदृश्य में अच्छे लेखकों द्वारा लिखित पुस्तक के लोग मिल जाते हैं।

लोग आपको पढ़ना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि मनोरंजन के लिए लोगों के पास कई विकल्प हैं क्योंकि पहले केवल टेलीविजन, रेडियो और किताबें ही थीं लेकिन किताबों की जगह अभी भी है और भारत सहित दुनिया भर में किताबें बेची जाती हैं और बाजार हर साल 10 से 20 प्रतिशत वृद्वि हो रही है।

उन्होंने कहा कि रस्किन बांड एक महान लेखक हैं इसलिए उन्हें पाठकों की कभी कमी नहीं होती। उन्होंने कहा कि समाचार लेखक तो हैं लेकिन एक अच्छी किताब लिखना आसान काम नहीं है. उन्होंने कहा कि नए लेखकों को फैशन, ट्रेंड को फॉलो नही करना चाहिए। लेखकों को दिल से लिखना चाहिए और लेखन की विभिन्न तकनीकों को भी सीखना चाहिए।
रिपोर्टर सुनील सोनकर

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *